04/07/2009

तेजी बच्चन का था झुमका !


(६
जुलाई 2009 को अमरउजाला के 'ब्लॉग कोना' में प्रकाशित )
दिल्ली और लखनऊ से बराबर की दूरी पर बसे शहर बरेली के साथ अक्सर झुमके वाली बरेली का जिक्र होता है। मेरा साया फिल्म में साधना पर फिल्माए गए और आशा भोंसले  के गाए इस गीत के बोल रजा मेहंदी अली खान के हैं। संगीतकार मदन मोहन कोहली है। सुनील दत्त साहब इस फ़िल्म के हीरो थे। अभी भी यदि आप उत्तर भारत के किसी शहर में जाएँ और खुद को बरेली का बताएं तो सुनने वाल पहले तो पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी वाली रायबरेली को याद करता है ,फिर ज्यादा बताने पर इस बरेली तक पहुंचता है।
क सवाल है आखिर रजा मेहंदी अली खान को अगर अपने गीत के बोल ही लिखने थे तो वह "झुमका गिरा रे बरेली के बाज़ार में" के बजाए पटना या भोपाल या लखनऊ के बाज़ार में भी लिख सकते थे ! क्या वजह थी की रजा मेहंदी अली खान ने  झुमका बरेली में ही गिराया?वजह है साफ़ है। यह अलग बात है कि कम लोगो को ही पता इसके पीछे की कहानी पता है।
प्रख्यात बाल साहित्यकार स्वर्गीय निरंकार देव सेवक जी  की बातें यहाँ याद आती हैं। यही बातें आज इस आलेख का आधार बनी हैं। सेवक जी अक्सर अपने परम मित्र स्वर्गीय हरिबंश राय बच्चन का जिक्र करते थे। सेवक जी के घर अक्सर जाना होता था। कभी कहीं मिल जाते थे तो घर ले जाते थे और बस कोई न कोई चर्चा छिड़ जाती थी देश दुनिया समाज साहित्य अखबार फिल्म -किसी पर भी ! सेवक जी ने ही मुझे बताया था -"बच्चन जी और उनकी पत्नी तेजी बच्चन शादी से पहले एक बार इलाहाबाद से बरेली आए थे /सेवक जी के घर पर ही दोनों रुके थे। मित्रता की बात अलग है ,मगर घनिष्टता दोनों की सेवक जी के घर पर ही हुई थी और अगर यह कहा जाये की एक मुलाकत और मित्रता के सम्बन्ध को रिश्ता मिला, एक प्यार को मुकाम बरेली में ही मिला, तो ज्यादा ठीक होगा। एक दोस्ती को रिश्ते में बदलने के पीछे सेवक जी का काफी योगदान था। दोनों की उस बरेली यात्रा का ख़ास मकसद भी यही था। उस समय यह दोनों कई दिन बरेली रहे थे और जब बात बन गयी तो तेजी बच्चन के मुख से अचानक ही निकल पड़ा था मेरा झुमका खो गया रे बरेली के बाज़ार  में
तेजी बच्चन जी का यह कहना इस बात का संकेत था कि  वह "इस बरेली में आकर अपनी सुधबुध खो बैठी हैं और यहाँ तक कि  उनको ऐसा लग रहा है की उनके कान से झुमका गिर गया और उन्हें खबर तक नहीं है  ।यही बात धीरे-धीरे उस समय चर्चा में आई और उसके बाद ही रजा मेहंदी अली खान ने जब मेरा साया फिल्म के गीत लिखे तो उनका बरेली ही झुमका गिराने का ख़ास मकसद यही था।
रेली का यह झुमका उस समय के बाद एक तरह से बीते जमाने की बात हो गयी थी ,मगर इधर फिर एक बार फिर माधुरी दीक्षित के शादी के बाद  फिल्म जगत में वापस आने के बाद बनी फिल्म आजा नच ले  में भी एक गीत के बोल में मंगा दे झुमका बरेली वाला आया है। यही वजह है की बरेली से झुमके का जो खास रिश्ता है, वह अभी तक बना हुआ है।  हालांकि मेरा साया फिल्म का वह गीत अभी बीते जमाने की बात नहीं हुआ था और अक्सर बरेली और झुमका का जिक्र आ ही जाता था,मगरआ जा नच ले फिल्म ने झुमके और बरेली के रिश्ते को एक बार फिर जोड़ दिया।
-आशीष अग्रवाल 

12 टिप्‍पणियां:

संदीप शर्मा ने कहा…

bahut khoob...
bareli ke jhumke ki achchhi jankari di...

jhumkabareillyka ने कहा…

संदीप भाई धन्यवाद !

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

अरे वाह, हमने तो काफी ढूंढा था बड़े बाज़ार में. "विश्व मानव" में तो एक स्थायी स्तम्भ भी बन गया था इस शीर्षक से.

पतिनुमा प्राणी ने कहा…

अच्छी जानकारी

jhumkabareillyka ने कहा…

स्मार्ट इंडियन अनुराग जी आपको बहुत याद है विश्व मानव अख़बार की ,लगता है आप भी बरेली के ही हैं ,बरेली के झुमकों को ढूंढने की जरूरत नहीं है ,मेरी नज़र में आप भी एक खनखनाते और चमकते हुए झुमके ही हैं ,तो आइये और जुड़िये इस झुमके से और बरेली वालों को भी अपनी जड़ों से जोडीये |

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

रोचक तो यह थी बरेली और झुमके की कहानी ..

jhumkabareillyka ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
jhumkabareillyka ने कहा…

रंजना जी अभी तक आपकी टिपण्णी ही सर्वाधिक रोचक है |धन्यवाद !

●๋• सैयद | Syed ●๋• ने कहा…

रोचक !!

neelam ने कहा…

hume to pata tha ki ,galiyaan itni tang hain wahaan ki agar jhumka gir gaya to bahut badi musibat ho sakti hai ,alnkaarik kathya tha ab yah teji bachchan waali baat kuch jami nahi.

Sandeep S Prasad ने कहा…

akhir pata chal hi gaya ki akhir jhumka bareilly me hi kyun gira ... bahut bahut shukriya !!!

Payoffers dotin ने कहा…

Earn from Ur Website or Blog thr PayOffers.in!

Hello,

Nice to e-meet you. A very warm greetings from PayOffers Publisher Team.

I am Sanaya Publisher Development Manager @ PayOffers Publisher Team.

I would like to introduce you and invite you to our platform, PayOffers.in which is one of the fastest growing Indian Publisher Network.

If you're looking for an excellent way to convert your Website / Blog visitors into revenue-generating customers, join the PayOffers.in Publisher Network today!


Why to join in PayOffers.in Indian Publisher Network?

* Highest payout Indian Lead, Sale, CPA, CPS, CPI Offers.
* Only Publisher Network pays Weekly to Publishers.
* Weekly payments trough Direct Bank Deposit,Paypal.com & Checks.
* Referral payouts.
* Best chance to make extra money from your website.

Join PayOffers.in and earn extra money from your Website / Blog

http://www.payoffers.in/affiliate_regi.aspx

If you have any questions in your mind please let us know and you can connect us on the mentioned email ID info@payoffers.in

I’m looking forward to helping you generate record-breaking profits!

Thanks for your time, hope to hear from you soon,
The team at PayOffers.in